बाघिन शिकार मामला: गोपद नदी में दूसरे दिन बरामद हुए शेष और 2 बोरे




एक में बाघिन का सिर तथा दूसरे में मिला पैर 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर किया न्यायालय में पेश 3 दिसंबर तक लिया गया
 रिमांड पर

आर.बी.सिंह राज
सीधी।संजय टाईगर रिजर्व की युवा बाघिन टी-30 को विद्युत का करंट फैलाकर शिकार करने की पूरी घटना का अंततः कल सोमवार को शव के समस्त अवशेष मिलने के साथ खुलासा पूर्ण हो गया, इस मामले में अभी तक 6 लोगों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया है जिन्हें 3 दिसंबर तक पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया गया है। सोमवार को फिर उतरी थी गोताखोरों की टीम शव की तलाश में दूसरे दिन सोमवार को गोपद नदी में उतरी गोताखोरों की टीम शेष बचे दो और बोरे बरामद करने में सफल रही। इन बोरों में से एक में बाघिन का सिर तथा दूसरे में एक पैर बरामद किया गया है। पूर्व में बरामद दो बोरों में बाघिन के तीन पैर बरामद हुए थे, इस प्रकार शिकारियों के द्वारा बताये अनुसार गोपद नदी में फेंके गए पांचों बोरे बरामद कर लिये गए हैं, लेकिन मृत बाघिन के पेट व पीठ का हिस्सा अब भी बरामद नहीं हो पाया है। जिसकी तलाश में वन विभाग के अधिकारी कर्मचारी अभी भी सर्च आपरेशन चला रहे हैं। उल्लेखनीय है कि संजय टाइगर रिजर्व की बाघिन का टी-30 का 5 नवंबर की रात्रि करंट फैलाकर शिकार करते हुए हुए उसके शरीर के कई टुकड़े कर पांच बोरो में भरकर सीधी-सिंगरौली की सीमा बनाने वाली गोपद नदी में ले जाकर फेंक दिया गया था। बताया गया कि आरोपियों द्वारा बाघिन के शव के टुकड़ों को हाथीकरखा पहाड़ राजस्व क्षेत्र के नीचे गोपद नदी के हथिनीदह के गहरे पानी में बोरों में पत्थरों के साथ भर कर फेंक दिया गया था। जिसे आरोपियों की निशानदेही एवं खोजी कुत्ते के सहयोग से दो दिन तक लगातार गोताखोरों की मदद से चलाए गए सर्च आपरेशन के बाद बरामद किया गया। आखेट की सामग्री व सांभर की सींग भी हुई बरामद बाघिन के शिकार मामले में सर्चिंग आपरेशन चला रही वन विभाग की टीम ने गिरफ्तार किये गए आरोपी प्रेमलाल सिंह के घर से खूंटी बनाने वाली फरसी एवं खोदने एवं गड़ाने हेतु सब्बल बाइंडिंग वायर तथा पतला एल्युमिनियम वायर तथा सांभर की सींग आदि बरामद हुआ है। इसी प्रकार शिवनाथ सिंह के घर से बाइंडिंग वायर तथा एल्युमिनियम वायर मिला है तथा रमेश सिंह के घर से भी पतला एल्युमिनियम वायर एवं बाइंडिंग वायर मिला है। जिससे यह सिद्ध हुआ है की आरोपी पहले से भी अपराध करने में संलिप्त रहते रहे होंगे। इन आरोपियों को किया गया गिरफ्तार बाघिन टी-30 के शिकार मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए 3 दिसंबर तक रिमांड में लिया गया है। जिसमें प्रेमलाल पिता सुंदरलाल सिंह गोंड़ 55 वर्ष, शिवनाथ पिता रामप्रसाद सिंह गोंड़ 30 वर्ष, जयलाल पिता रामप्रसाद सिंह गोंड़ 27 वर्ष, गोपाल पिता समयलाल सिंह गोंड़ 46 वर्ष, तेजप्रताप उर्फ राजू पिता रामदीन सिंह गोंड़ 21 वर्ष तथा गुलाब पिता सूरजपाल सिंह गोंड़ 26 वर्ष सभी निवासी ग्राम बंजारी थाना सरई जिला सिंगरौली शामिल हैं। लिया गया है रिमांड पर बाघिन के शव की तलाश में चलाए गए सर्चिंग आपरेशन के दूसरे दिन गोपद नदी से 2 और बोरे बरामद हुए हैं, जिसमें बाघिन का सिर एवं शेष बचा एक पैर मिला है, पीठ व पेट का हिस्सा अभी बरामद नहीं हुआ है, जिसकी तलाश जारी है। मामले में 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में प्रस्तुत किया गया, जहां से 3 दिसंबर तक रिमांड पर लिया गया है।
 वाय.पी. सिंह क्षेत्र संचालक संजय टाईगर रिजर्व, सीधी

 बी.पी.सिंह के साथ आर.बी.सिंह 'राज' की रिपोर्ट